कचरा ट्रांसफर स्टेशन (जीटीएस) में लगेंगे हाईटेक कैमरे और होगी कड़ी निगरानी

कचरा ट्रांसफर स्टेशन (जीटीएस) में लगेंगे हाईटेक कैमरे और होगी कड़ी निगरानी

लॉक डाउन में ढीली पड़ी सफाई व्यवस्था को स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 की टूल किट जारी होने के बाद से लगातार ठीक किया जा रहा है। इसी कड़ी में अब कचरा ट्रांसफर स्टेशन (जीटीएस) में हाईटेक कैमरे लगाए जाएंगे। इसमें यह खूबी भी होगी कि उसे जूम कर बारीकी से लापरवाही को देखा जा सकेगा।

10 जीटीएस ही स्वच्छता अभियान के प्रमुख केंद्र हैं, जहां से शहर का 1200 मैट्रिक टन कचरा प्रतिदिन ट्रेचिंग ग्राउंड भेजा जाता है। यहां गीले और सूखे कचरे की ठीक तरह से छंटनी नहीं होने पर ट्रेंचिंग ग्राउंड की पूरी व्यवस्था प्रभावित होती है। कर्मचारियों की छोटी सी लापरवाही से कचरा प्रोसेसिंग में परेशानी आती है। इससे निपटने के लिए निगमायुक्त प्रतिभा पाल ने हाल में हुई बैठक में सभी जीटीएस पर हाई क्वालिटी सीसीटीवी कैमरे लगाने के निर्देश दिए।

इसकी लाइव फीड सिटी बस ऑफिस स्थित आईसीसीसी में ली जाएगी। जीटीएस पर कैमरे लगने पर जीटीएस पर कचरा संग्रहण वाहन के आने-जाने का समय, कचरे की मात्रा और गीला-सूखा कचरा अलग-अलग लाने के संबंध में कंट्रोल रूम से ही मॉनिटरिंग की जा सकेगी। कैमरे इतने हाई रिजोल्यूशन के लगाए जाएंगे ताकि कंट्रोल रूम से ही जूम करके कचरा ट्रांसफर स्टेशन की स्थिति को स्पष्ट रूप से देखा जा सकेगा।

Add Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Previous Next
Close
Test Caption
Test Description goes like this